चचेरी बहन के साथ पहला अनुभव

हाय पाठको, यह मेरी पहली कहानी है। मेरा नाम सोनू है। मेरी उमर चौबीस बरस है। मैंने अपनी पढ़ाई पूरी कर ली है। मेरी लम्बाई पूरी छः फ़ुट की है। और मेरा तगड़ा लण्ड आठ इन्च लम्बा है।

यह कहानी बताने में मुझे बहुत मजा आ रहा है लेकिन इसे जब मैंने अन्जाम दिया तब तो मुझे बहुत मजा आया। मेरी चचेरी बहन सोनिया अभी 19 बरस की है जिसको मैंने चोदा था। लम्बाई उसकी ज्यादा नहीं है कोई पांच की होगी। लेकिन उसकी चूचियाँ बड़ी-बड़ी है। वो स्मार्ट भी है है। उसकी गाण्ड पीछे से उभरी हुई भी है।

एक दिन जब हम लोग सभी शादी में गये थे उस दिन वो घर में थी। हम लोग सब शादी में थे तभी उसकी मम्मी ने मुझे घर जाने को कहा। खाना लेकर जाना था। मैंने गाड़ी निकाली फ़िर जब घर में जब मैं पहुंचा तो मैंने दखा कि घर में कोई नहीं था। फ़िर मुझे बाथरूम से पानी गिरने की आवाज आई। वो नहा रही थी।

फ़िर मैं बैठ गया फ़िर मैंने देखा कि उसके बाथरूम के दरवाजे में होल था। मैंने जब उस होल से अन्दर देखा तो मेरे होश उड़ गय। सोनिया अपने हाथ से अपनी चूत को सहला रही थी। ये देख कर मैं पागल हो गया। मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था। फ़िर मैंने देखा कि वो अपने हाथों से अपनी चूचियां को सहला रही थी। उसके चेहरे के भाव देख कर मेरा लण्ड खड़ा हो गया। मैं अपने लण्ड को सहला रहा था। फ़िर देखने लगा। मुझे यकीन नहीं हो रहा था ये ऐसे भी कर सकती है। फ़िर मैंने सोचा कि हर लड़की की चाहत होती है। फ़िर उसने अपने गद्दे को सहलाया। फ़िर उसमे उसने पानी डाला और फ़िर वो नहाने लगी। मैं बाहर जाकर बैठ गया ,वो कपड़े पहन कर जैसे ही बाहर आई। मैंने अपने लण्ड को सहलाया। उसने मेरे लण्ड के तरफ़ देखा। फ़िर मैंने कहा मैं तुझे खाना देने आया हूं। फ़िर वो किचन में गई। मैं भी उसके पीछे गया। फ़िर मैंने हिम्मत करके उसके कंधे पर हाथ लगाने लगा। वो वहां से चली गई। वो बाल झटकने लगी थी।

मैंने कहा- मैं बाल झटक देता हूँ।

फ़िर मैं उसके बाल झटकने लगा। मैंने उसके बाल उसके बूबस के उपर रख दिया और हाथ लगने लगा। वो समझ गई कि मैं क्या चाहता हूं।

फ़िर मैं उसके बूबस को दबाने लगा। वो शरमाने लगी और नजरें झुकाये जाने लगी। फ़िर मैंने उसे पकड़ा उसके स्तनों को दबाने लगा। वो मदहोश होने लगी। मैं उसके पेट पर हाथ घुमाने लगा। उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी चड्डी के अन्दर डाल दिया। मै उसकी चूत को सहलाने लगा। वो गरम हो गई थी। फ़िर मैं उसको चूमने लगा वो मुझे इस काम में सहायता करने लगी। उसका हाथ पकड़ कर मैंने अपने लण्ड पर रख दिया। वो जम कर पकड़ कर दबाने लगी और फ़िर वो नीचे बैठ गई। मेरी पैंट की जिप खोली और 8 इन्च लम्बा लण्ड बाहर निकाल लिया। वो तो लण्ड को देख कर पागल हो गई।

वो बोली- यह लण्ड मेरी प्यारी चूत में जायेगा तो मैं तो मर जांऊगी।

मैंने कहा- पहले इसे मुँह में तो ले।

वो बड़े प्यार से जुबान से चाटने लगी। मेरे मुँह से आवाज़ आने लगी- पूरा मुहं में घुसेड़ ले !

मुझे बहुत मजा आ रहा था। फ़िर मैंने उसके पूरे कपड़े उतार दिये। वो शरमा गई।

मैंने कहा- पहले कभी सेक्स किया है?

वो बोली- नहीं।

मैंने बोला- मैं ही तेरी सील आज तोड़ूंगा, बहुत मजा आयेगा।

फ़िर मैं उसके चूचों को जम कर दबाने लगा, वो आआआआह आआआआह्हहह्हह करने लगी उसके गुलाबी गुलाबी निप्पल बहुत प्यारे दिख रहे थे। उसको मैं अपने दांतो से काटने लगा।

वो जोर से आआअह्हह करने लगी, बोली- जम कर दबाओ मुझे आज जवान लड़की बना दो।

मैंने अपना मुख उसके चूत पर रख दिया और चाटने लगा। चूत की खुशबू बहुत प्यारी थी। मैंने एक घण्टे तक उसकी चूत चाटी।

वो मदहोश हो गई, वो बोली- मेरी चूत फाआआआद दो आआआअह व्वव्व्वआआआह आआआअह्हह्हह्ह औउर्ररर्रर्रर्रर जम्मम्मम्मम कीईईईई। मैंने अपना लण्ड उसके चूत पर रख दिया। एक गरम लोहे की सलाख की तरह जल रहा था मेरा लण्ड। वो बोली कितना गरम है तुम्हारा लण्ड ।

मैंने होल पे रखा और पुश किया। वो चिल्लाई। मैंने फ़िर घुसेड़ा, लेकिन मेरा लण्ड छेद से बाहर निकल गया।

वो बोली जा के पहले सीख कर आओ फ़िर मेरी चूत फ़ाड़ना।

मुझे गुस्सा आया। मैंने उसकी टांगो को फ़ैलाया और लण्ड डाल दिया। वूऊऊऊओ चिल्लाई। बोली मत करो बहुत दरद हो रहा है। लेकिन मैं कहां रुकने वाला था वो दरद से चिल्ला रही थी आआआआआआह्हह्ह नहीईईईइ धीईईईईईइरीईईईईई प्लीऽऽऽज सीईईईईईईईए।

थोड़ी देर बद वो मदमस्त हो गई और बड़े प्यार से लेने लगी और बोली मेरे राजा जरा जम के चोदो, मजा आ रहा है, उसकी चूत से खून निकलने लगा। वो डर गई। मैंने कहा डरना नहीं ऐसा पहली बार होता है। वो समझ गई और मैं फ़िर चोदने लगा बहुत मजा आ रहा था। फ़िर मैंने उसके दोनो बूबस के बीच में लण्ड रगड़ने लगा। बहुत मजा आ रहा था।

फ़िर उसके चूत चाटने लगा। फ़िर चूत में उंगली डालने लगा। फ़िर 8 इन्च लम्बा लण्ड डाल दिया। वो बोली फ़ाड़ दो राजा आह। 20 मिनट तक चोदने के बाद वो ठण्डी होने लगी थी। मेरा माल भी गिरने वाला था। मैंने अपना लण्ड बाहर निकाला और उसके मुख में डाल दिया। वो बड़े प्यार से चता और हम दोनो बाथरूम में चले गये नहा ने लगे वो मुझे नहला रहै थी बहुत मजा आआ रहा था वो फ़िर बथके मेर्रे लण्ड को मूओह में भर के चूसने लगी। मेरा लण्ड फ़िर खड़ा हो गया। फ़िर मैंने उसे बाथरूम में चोदा। वो बिलकुल मदमस्त हो गई थी। मैंने उसको कपड़े पहनाया। इस घटना के बाद मै उसको दो बार और चोद चुका हूं। ये बात अक्टूबर 2006 की है।

बस दोस्तो यह कहानी हे मेरी। यकीन आये या ना आये पर है बिल्कुल सत्य। अगर किसी को मुझसे कोई शिकायत है इसके बारे में तो मुझे मेल करें, मेरा मेल आई डी है

Sonufriend_91221@yahoo.co.in

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: