त्रक दरैवर के साथ सेक्स

हि दोसतो। मैं रजेश। मैने बहुतसि ऐसि कहनियोन कि कितबे पधि है। मैं ओर मेरे दोसत पत्रिस ओर जोनसोन ऐसे सतोरिएस कि कितबे लते है जो हिनदिमे होति है ओर चोरि चुपे खरब परिनत मे बेचि जति है। ये कहनि ऐसेहि एक कितब से है। अपको पसनद अयेगि। अकसर लोग ऐसिसे सोपी मरते है। तो पधिये ओर पनि मरिये।

मोना ओर कपिल कि शदि को दो महिनिहि हुए थे। मोना इसै थि। उनकि लोवे मरगे हुइ थि। पेर शदि के बाद कपिल का दिल ओफ़्फ़िसे के एक लदकिपेर अया हुअ था इसलिये मोना कपिल मे जमति नहि थि तो सेक्स का तो सवकल हि नहि था। वसे मोना बहुत सेक्सी थि। दिखने मे ओरदिनरी पेर बोदी मनो सेक्स कि गोद्देस्स हो। एकदम सुदौल भरि हुइ। बूबस भि धरे थिगत बिकुल शपे मे बदनपेर जैसे रुब्बेर के दो बल्लस। बदन का रनग थोदा सवला। मोना जसे बोमब को थुकरने वल शयेद पगल हि होगा कपिल जैसा। मोना को अपनि बदन के बारे मे पता थकि वो बहुथि सेक्सी है।वो हमेशा सलवर कमिज हि पेहनथि थि। उसका बदन कोइ ननगा देख लेता तो तीन चार बर चोद कर हि दम लेता। उनकि ये उनबन कपिल के परेनतसको पता थि। उनहोने उन दोनो को सकथिसे मधया परदेश कि त्रिप पेर भेजा। सोचा जुनगले नतुरे देख कर थोदा बदलव आजेगा। कपिल बिलकुल तैयार नहि था। उसकि माल तो ओफ़्फ़िसे मे थि। मोना वसेतो शरिफ़ ओर शरमिले किसमकि लदकि थि। कपिल 29 का था तो वो 27 कि। कपिल परेनतस कि खुशि के लिये रज़ि हो गया। त्रिपवले दिन उनहोने अपनि तयरि कि ओर सरलेले चल पदे। रसते मे चोति चोति बतोपेर लदैया शुरु हो गये। बाद मे उनहोने अपनि सर रसते मे चोते होतल पेर रोक दि। समन गदि मे हि था। दोनोने होतल मे खना खया ओर सर के पस अये।देखा तो कया समन चोरि हो गया था। कपिल को गुस्सा अया। होतल मे कोइ नहि था बुधि होतल मलकिन ओर दो नौकरो केसिवा। बुधि औरत को उन दोनोपर तरस अया। मोना ओर कपिल ने उसको सारि बात बतयि। वो बोलि कोइ बात नहि बेति मेरे पास कुच पुरने कपदे है। कुच लोग गलतिसे चोद गये थे ये रख लो। काम अयेनगे।

दोना वपस सर मे बैथकर चल दिये। बाद मे रात होनेकि वजह से एक लोदे मे रुख गये। वहपेर कपिल ने पहेले अपनि गिरलफ़रिएनद को फोन किया तो पता चला कि उसकि शादि कि बात हो रहि है। तीन दिनो मे कुच नहि किया तो गदबद होययेगि। कपिल गुस्सेसे पगल हो गया उसने सुभह को कि वपस जने का फ़ैसला कर दिया।उसने मोना कोभि साफ़ तौरपेर इसकसि वजह बता दि। मोना को कपिल पे बहुथि गुस्सा अया पेर कपिल का जिद्दि सवभव उसे सोल्लगे सेहि पता था। घर चलकर कपिल के परेनतस समभल लेनगे ये सोच कर उसने होतल से घर फोने करके उनको सरि बात बता दि। कपिल के परेनतस दुखि हो गये। वो बोले, तुम चिनता मतकरो हुम सब समभल लेनगे।

मोना थोदि बेखौफ़ हो गयि। रातमे कपिल को निनद नहि आयि। एक तो समन कपदा सब चोरि हो गया था। उपेर से ये सब। सुबह को उथतेहि उसने बरेअकफ़त मगवया। उस वकुत मोना ओर उसके बीच कहसुनि हो गै। गुस्से मे कपिलने तेअपोय को उदा दिया।सरि चये मोना के दरेस्स पेर जा गिरि। अब कया करे एक तो कपदे नहि जो थे वो भि खरबकर दिये। मोना मन्न हि मान मे कपिल को गलिया दे रहि थि। थोदि देरमे कपिल का गुस्सा थनदा हो गया। उसने मोना को भुधिया ने दिये ओर नहा धोकर तैयर रेहने को कहा। कपिल नहा कर अया मोना नहने के लिये गयि। नहने के बाद मोना ने गथरि खोलि। उसमे एक पुरने बलुए सोलौर कि त्रनपरेनत सारे,सया ओर बलौसे था। मोना को सारे पेहेन्ना पसनद नहि था। वो कपदे पेहेन्ने लगि तभि उसकि बरा तोइलेत मे जा गिरि। लोगे कि सफ़ै आप जानतेहि है। मोना ने इतनि गनदि बथरूम कबि नहि देखि थि। बहर से कपिल जलदि निकल ने केलिये अवज दे रहा था। मजबुरिमे मोना सरी पेहन्ने लगि। बलौसे पेहनते वकुत उसे बरा का खयल अया। वैसे भि उसके बल्लस तो तिघित ओर बदन सुदौल था उसे बरकि कोइ जौरत भि नहि थि। उसने बलौसे पेहना तो वो ओरदिनरी बलौसे से चोता था थोदा तिघत भि था। उसने हूकस लगये। बलौसे तिघत होने के साथ लुवनेसक ओर बसकलेस्स भि था। सलिवलेस्स नहि था।

सारि भि सिज़े मे थोदि चोति थि। मोना ने वो अपनि नवेल के निचे सकथि से बनध लि। पल्लु लिया।

वो बहर अयि। कपिल सर मे उसका इनतजर कर रहा था। उसने अपनेआप को आइनेमे देखा। सारि से उसका बदन धुनधलसा दिख रहा था। तिघत बलौसे मे से उसका सलेअवगे दिखरहा था। दीप नवेल। बलौसे मे से निप्पलेस साफ़ ज़लक रहे थे। वो मुद गये ओर अपने बसकसिदे को मिर्रोर मे देखा बसकलेस्स बलौसे मे से ननगि पीथ दिख रहि थि निचि सारे अस्स के उपर से तिघतली बनधि गयि थि। चलने पर उसके चाल एकदन सेक्सी दिकने लगि। मोना का बदन इस सोसतुमे मे उभरकर दिख रहथा। मोना निचे अकर सर मे बैथ गयि। सुकेर था कि लोगे मे सुबह कोइ नहि था। कपिल सर तेज़ भगा रहा था। वो दोपेहर को एक सुनसान जगह पेर एक धबे पेर रुक गये। वहा कोइ नहि था धबे का मलिक ओर उसका चतो नौकर। कपिल ने गदि परक कि।वो सतते कि बोरदेर के आसपस्स कहि थे। कपिल उतर कर फोने करने के लिये गया।

जहा उनकि सर परक कि हुइ थि उधर पस्स हि कोने मे एक त्रुसक परकिनग किया हुअ था। उसमे दो लोग थे। कपिल वपस अया तो उसे वो तुसक दिखा। उसने त्रुसकवले को अवज दि उसमेसे से तकरिबन 68 साल के दो लोग उत्रे। वो दोनो भै थे। बदे का नाम चरन परसद था।बिलकुल शनत ओर अछसे सवभव का। लोगो कि मदद करने मे पेहले। दुसरे का नाम रनगा था वो उसका चचेरा भै था। एकदुम घतिया किसम का बदे भैसे उलता। शरब से शबाब तक सब बुरि अदते उसमे थि। बदा महतमा था तो चोता शैतन था। बदे भै कि वजह से उसकि शरब औरत अदते नहि चलति थि। फिर भि चोरि चुपे वो उसमे लगा रेहता था। कपिल ने चरनपरसद से पेत्रोल पुमप के बरे मे पुचा।उसे भि पता नहि था। कपिल ओर वो धबे वले से पुचने के लिये वपस गये। एधर मोना सरमे अकेलि थि। गरमि का मौसम था। सर का अस भि खरब हुअ था। मोअन ने उसे कोइ ना देखे इसलिये शिशे बनध रखे थे।

अनदर वो गरमे से ज़ुलस रहि थि। कपिल भि बहर बते कर रहा था। मोना थोदि देर सर से बहर अयि। उसे लगा कि कि त्रुसक मेसे उसे कोइ देख रहा हो। उसने देखा तो वो रनगा था। उमर करिबन 65 साल बुधा फिर भि हतकता शकल से दरवना और कमिना सिर पर बरिक सफ़ेद बाल। दधि भि थोदि बधि हुइ। मोना गरमि से परेशन हो गै थि। रनगा लगतर उसे देख रहा था।मोना को ये अचा नहि लगा। वो वहा अकेलि थि। बदन पेर त्रनपरेनत सरी ओर सेक्सी बलौसे पेहनके। मोना मन्न मे हि उस बुधिया को भि कोस रहोथि। मोना को पता था कि ये सोसतुमे दुसरे सरी बलौसे से बिक्कुल अलग है जानबुच कर चोते किये हुए। अपनि बोदी दिखने के लिये जैसे सल्लगिरलस होति है। तभि उसका पल्लु गरम हवा के ज़ोकेसे उदा ओर पासकि नुकिलि पौधोमे अतक गया। वो उसे चुदने कि कोशिश करने लगे। वो पसेनेसे लबलब हो चुकि थि। रनगा को यहि चहिये था। वो उसके सुदौल बदन को खुला देखना चहता था। अब मोना उसके समने सेक्सी बलौसे मे थि। उसका उपरि बदन लगभग खुला हि था। रनगा उसका पसिनेसे चिकना हुअ बदन देख रहा था। वो बहर अया ओर थोदा पास अकेर खदा हो गया। उपेर से निचे तक उसे देखने लगा। दीप नवेल खुला पेत बदे तिघत बूबस। मोना के निप्पलेस भि साफ़ ज़लक रहे थे। मोना ने पिचे मुदकर पल्लु निकल लिया उसकि ननगि पेथ रनगा ने देखि। मोना सर मे बैथ गयि। रनगा अब सर के पास अकेर शिशे से मोना के बूबस देखकेर अपनि जीभ होतो पेरसे फिरनवे लगा। इतने मे उसका भै और कपिल आगये। उनको देखकेर वो वपसस त्रुसक मे बैथ गया। कपिल ने सर चलु कि पेर वो सतरत नहि हुइ। चरन परसाद ने कपिल को कहा, आप चहे तो मैं अपको शेहर चोद देता हु।

मैं भि वहि जा रहा हु। कपिल को किसि भि हलत मे पहुनचना था। वो हा बोला। चरन परसाद अची नियत का अदमि था। रनगा उसकि नजरोमे सुधेरनेका धोनग करते हुए रेहता था। चरन को भि कि अदते पता थि पेर उसकि नजरोमे वो अब सुधर गया था। कपिल ने रनगा पेर धयन नहि दिया। सब त्रुसक मे बैथ गये। चरन परसाद के बजु मे कपिल बैथ गया। मोना उनके पिचे बैथ गयि। मोना क पिचे ,त्रुसक मे जो सोने के लिये जगह होति है रनगा उसपेर लेता हुअ था। उसने मोना के पेचे का परदा बनध किया ओर परदेके पिचे जकेर सो गया। शम को अनधेरा पदने पेर रनगा जग गया। कपिल मोना बैथे बैथे सो रहे थे। चरन परसाद त्रुसक चला रहा था। रनगकि त्ररफ़ मोना कि पेथ थि। त्रुसक कि सबिन मे अनधेरा होने किवजह से चरन का धयन नहि गया वैसे भि उसका पुरा धयन त्रुसक चलने मे था। कपिल गहरि निनध सो रहा था।

रनगा ने परदे के कोने से हात बहर निकला ओर मोना कि पिथ को हलकेसे चुअ। मोना जाग गयि। पेर कुच नहि बोलि। रगा के दनो हाथ हरकत मे आगये वो मोना कि ननगि पिथको सेहलने लगा। मोना को कफ़ि गुस्सा अया पेर वो चुप बिति रहि।उसने सोचा कि अगेर उसने तमशा किया तो सरन रनगा को मार हि देगा और चरन के अछे सवभव के करन उनको लिफ़त मिलि थि। वो चुप चप बैथि रहि रनगा के सिरफ़ दोनो हाथ हि परदेके बहर थे।उसका हौसला बधा। उसने धरेसे दोना हाथ अगे मोना के पेत पेर सरका दिये। मोना का पल्लु गिर पदा। अब वो उसके पेत पेर हाथ फेरने लगा। उसकि दीप नवेल को सेहलने के बाद रनगा के हाथ मोना के बूबस पेर अगये। मोना के जिसम मे एक सुर्रेन दौद गया। उसनेसोचा अगेर कपिल बहेर सेक्स केर सकता है तो मैं एक बर इसका लुफ़थ कयोन ना उथौ? रनगा उनगलिया मोना के निप्पलेस पेर गोल गोल घुमा ने लगा।मोना पिचे खिसक केर बैथ गयि। रनगा ने परदेका कोना बजु करके मोना कि पिथ को चुमा। मोना के लिये ये एक नया अनुभव था। वो सपने भि नहि सोच सकति थि कि एक भुधा इतना सेक्सी हो सकता है। मोना चुकेसे परदेके अनदर सरक गये। उनदेर अतेहि रनगा ने उसे लिता दिया ओर उसका पेत नवेल चुमने लगा। उसने अपनि जीभ नवेल मे घुसा दि ओर चतने लगा। अब वो उपेर अया ओर मोना के होथ चुमने लगा। बाद मे गाल। फिर गला। अब रनगा मोअन के बूब को बलौसे के उपेर से हि चुमने लगा। मोना गरम हो गयि। उसने रनगा कि लुनगि कि तरफ़ देखा तो उसका 7इनच लमबा सोसक उबरकेर बहर अया था। मोना का बदन चखने वला रनगा दुनिया का सबसे खुशनसीब इनसान था। उसने मोना के बलौसे के हूक खोलने चहे मोना ने विरोध किया। वो बोला सिरफ़ एक बार मुज़े तुमहरा दुध पिने दो मैं वपस तुमहे तनग नहि करुनगा। मोना बोलि, अगर पिनिके बाद तुमने मुज़े चोदा तो? वो बोला कोइ बात नहि मैं सोनदुम खा चुका हु। अब तुमहे मुज़से बचा नहि होगा।

मोना ने हाथ हता देये रनगने बलौसे के हूकस खोले ओर उसके खदे निप्पलेस पेर तुत पदा। वो धिरे धिरे मोना के दोनो बल्लस चुस रहा था। उसने मोना का सया उपेर करके अपना सोसक उसकि चुत मे घुसा दिया। चुसते चुसते वो लुनद अगेपिचे करने लगा।मोना को शुमे तकलिफ़ हुए पेर बादमे मज़ा अने लागा। दोनोने दो बर पनि मरा। एक घनते ये सब चलता रहा। बाद मे मोना उथि कपदि दोनो पेहने। सुबह के 4 बजे थे। त्रुसक शेहर मे आचुका था। कपिल अब्बहि सो रहा था। उसका घर आने मे आधा घनता बाकि था। मोना बहर जने लगि रनगा ने वपस उस पकद लिया। ओर बोला अब अखोरि बर मुज़े तुमहरा दुध पिने दो मोना ने मना कपिल कि वजह से मना किया पेर रनगा जिद पेर अया।

मोना ने पल्लु हतकेर बलौसे के हूक खोले रनगा फिर से बल्ल चुसने लगा। मोना ने हाथ से उसका मुह सिनेसे हत्तनेकि कोशिश कि पेर रनगा ने उसके हथ पकद लिये। उसने मोना का पेत भि चुम लिया। मोनने बलौसे के बुत्तोन वपस लगा दिये ओर अगे अकेर बैथ गयि। चरन परसाद ओर कपिल को इस बात कि खबर भि नहि थि। कपिल का घर अनेपेर मोना ने उसे जगया। दोनो त्रुसकमेसे उतेर गये। त्रुसक निकल गया। रनगा चरन के बजुमे अकेर बैथ गया। चरन परसाद को मुह पोचता हुअ रनगा देखकेर कुच अजिब सा लगा। लेकिन शरब कि मेहेक नहि अयि इसलिये वो चुप रहा।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: